उत्तरप्रदेशक्राइमगोरखपुर

गोरखपुर:दो बार प्रेग्नेंट करके गर्भपात करवा चुका है दारोगा,शादी के नाम पर दे रहा झांसा

ब्यूरो

चौरी चौरा-गोरखपुर। बरेली में शादी का झांसा देकर महिला से अवैध संबंध बनाने के मामले में दारोगा पर जांच चल ही रही थी कि एक और इसी तरह का मामला गोरखपुर से सामने आया है। यहां भी दारोगा पर महिला से शादी का झांसा देकर पांच साल तक शारीरिक शोषण का आरोप लगा है। कुशीनगर की युवती ने शारीरिक शोषण करने के मामले में शनिवार को दरोगा विनय कुमार के खिलाफ रेप सहित अन्य धाराओं में केस दर्ज करवाया है। इस मामले में दरोगा को निलंबित किया जा चुका है। पुलिस उसे बचाने का प्रयास कर रही थी पर एसएसपी के आदेश पर चौरीचौरा पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

कुशीनगर के कप्तानगंज थानाक्षेत्र की रहने वाली एक युवती ने दरोगा विनय कुमार के खिलाफ आरोप लगाया है कि जिले के कप्तानगंज थाने में तैनाती के दौरान दरोगा से उसका परिचय हुआ। खुद को अविवाहित बताकर दरोगा ने उसे प्रेमजाल में फंसा लिया और पिछले पांच वर्षों तक शारीरिक शोषण करता रहा। युवती का आरोप है कि इस दौरान उसने जब भी शादी की बात की, वह टालमटोल करता रहा।
उसकी तसल्ली के लिए कप्तानगंज के एक मन्दिर में शादी भी की और बाद में सामाजिक रूप से शादी करने का वादा किया। कुछ दिन बाद युवती को पता चला कि दरोगा पहले से विवाहित है और उसके दो बच्चे भी हैं। इस बात को लेकर दोनों में विवाद होने लगा। युवती का आरोप है कि पांच साल के दौरान वह दो बार गर्भवती भी हुई। दरोगा ने दवा खिलाकर उसका गर्भपात करा दिया। दरोगा जहां भी तैनात रहा, वहां उसे बतौर पत्नी रखा और लोगों से उसे अपनी पत्नी बताता भी रहा।

जान देने की कोशिश की तो सामने आया प्रकरण
चौरीचौरा थाने में तैनाती के दौरान दरोगा और युवती के बीच विवाद हुआ तो युवती ने जहर खाकर और ट्रेन से कटकर जान देने का प्रयास भी किया। स्थानीय लोगों ने उसे बचा लिया था। उसी समय यह मामला अधिकारियों के सामने भी आया। विवाद जब सुर्खियों में आया तो तत्कालीन एसएसपी डॉ. विपिन ताडा ने दरोगा विनय कुमार को सस्पेंड कर दिया। लेकिन युवती की तहरीर पर मुकदमा नहीं दर्ज हुआ।

एक महीने से काट रही थी थाने का चक्कर
युवती पिछले एक माह से मुकदमा दर्ज कराने के लिए अधिकारियों के दफ्तरों के चक्कर काट रही थी। एडीजी अखिल कुमार से मुलाकात कर न्याय की गुहार लगाई, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई।
एसएसपी से मुलाकात होने के बाद युवती ने मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की मांग की। एसएसपी के आदेश पर पुलिस ने मुकदमा पंजीकृत किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *