उत्तरप्रदेशगोंडाटेक्नोलॉजी

शादी-विवाह में खपत हो रहा 20 हजार लीटर दूध,घरों में किल्लत

मुश्ताक अहमद

दूध की कमी से बढ़ी डिब्बा दूधों की डिमांड, चाय के भी पड़े लाले

वजीरगंज में आ रही है रोजाना 3 दूध कंपनियों की गाड़ियां

हर गाड़ी में 7.5 हजार लीटर दूध पर दुकानों को सप्लाई 30 प्रतिशत भी नहीं

 

गोंडा। जून-जुलाई में खूब शादियों की लगन होने से बाजार की तो बल्ले-बल्ले है, लेकिन दूध जैसे महत्वपूर्ण उत्पाद की जबरदस्त किल्लत हो गई है। वजीरगंज क्षेत्र में 22 हजार लीटर पैकेट वाले दूध की नियमित सप्लाई होती है। तेज लगन में इनमें से करीब 20 हजार लीटर दूध शादी-विवाह में आए घराती-बराती में खपत हो जाता है। घरों तक बमुश्किल 2 हजार लीटर दूध ही पहुंच रहा है। आम दिनों में घरों में दूध देने वाले दूधिये भी मोटी कमाई के लालच में गैप कर रहे हैं। वहीं लंबे समय तक रखे जाने वाले पैकेट दूध की बाजार में शार्टेज हो गई है।

वजीरगंज क्षेत्र में रोज 2 से 3 गाड़ियां दूध की

गोंडा,अयोध्या से आ रही हैं। इन गाड़ियों में लगभग 1833 कैरेट दूध होता है। एक कैरेट में 12 लीटर दूध होता है। लगन में बढ़ी मांग के चलते दूध की पहले ही एडवांस बुकिंग हो गई है। इन दिनों कोई भी दिन ऐसा नहीं है, जिस दिन हल्की लगन हो। दूध की मांग से डुमरियाडीह, बालेश्वरगंज, जमलापुर, कोंडर आदि क्षेत्रों में मिल्क दुकान पर सन्नाटा दिख रहा है। स्थिति यह है कि दुर्घटना और अन्य बहाने बनाकर दूध की आपूर्ति रोक ले रहे हैं। राजा सगरा चौराहे पर दूध का कारोबार करने वाले ललई यादव बताते हैं कि रोज 200 लीटर दूध बेच लेते थे। अब एडवांस बुकिंग करने वालों के ही सप्लाई हो रही है। जिस दिन हल्की लगन होती है, उस दिन काउंटर सेल करते हैं। दरअसल, गांवों में रोज सौ से डेढ़ सौ शादियां हो रही हैं।आलम यह है कि करीब 20 हजार लीटर दूध मिल्क सेंटर पर जाने के बजाय सीधे शादी वाले घरों में पहुंच जा रहा है। सर्वाधिक मांग छह लीटर वाले कमर्शियल पैकेट की है।

इम्यूनिटी के लिए हल्दी वाले दूध की बढ़ी मांग

कमोवेश सभी मैरिज पार्टियों में गरम दूध की उपलब्धता देखी जा रही है। इम्यूनिटी को लेकर हल्दी वाले दूध की खूब डिमांड है। कैटर्स दिनेश शुक्ला  का कहना है कि मैरिज पार्टियों में गरम चीजों की खूब मांग है। गरम दूध, हल्दी वाला दूध और काफी की मांग के चलते दूध की मांग बढ़ी है। पैकेट वाले दूध की शुद्धता को लेकर सवाल नहीं है, ऐसे में इसकी मांग की जाती है।

लंबे समय तक सुरक्षित रहने वाले दूध की शार्टेज

अमूल गोल्ड और मोती ब्रांड दूध अधिक समय तक सुरक्षित रहता है। 68 रुपये में मिलने वाला एक लीटर अमूल गोल्ड की शार्टेज है। दुकानदार राम औतार का कहना है कि काफी और चाय के लिए लोग पैकेट दूध की मांग कर रहे हैं। आपूर्ति नहीं मिल रही है। लगन में पनीर की मांग भी बढ़ी है। इसके लिए भी पैकेट वाले दूध की मांग है। जमलापुर चौराहे पर पनीर बेचने वाले पप्पू यादव का कहना है कि रोज एक से दो कुंतल पनीर की सप्लाई है। गांव के दूधिए सप्लाई करने में असमर्थ हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *